विजेट आपके ब्लॉग पर

Sunday, October 29, 2017

2.19 रूसी कहानी "काला पान के बीवी" ; अध्याय-6

6
" आतान्दे !" [1]
"अपने हमरा आतान्दे कहे के जुर्रत कइसे कइलथिन ?"
"महामहिम, हम तो आतान्दे-स् [2] कहलिअइ !"

दू अटल विचार, नैतिक प्रकृति में एक साथ विद्यमान नयँ रह सकऽ हइ, ठीक ओइसीं, जइसे कि दू पिंड (bodies)  भौतिक विश्व में एक्के स्थान में अवस्थित नयँ रह सकऽ हइ । तिक्का, सत्ता, एक्का - जल्दीए हेर्मान के कल्पना में मृत बुढ़िया के प्रतिमा के धुँधला कर देलकइ । तिक्का, सत्ता, एक्का - ओकर मस्तिष्क से निकस नयँ पावऽ हलइ आउ ओकर होंठ पर हिलते-डुलते रहऽ हलइ । जवान लड़की के देखके ऊ बोल उठऽ हलइ - "केतना सुग्घड़ हइ ऊ ! ... बिलकुल लाल पान के तिक्का ।" जब ओकरा पुच्छल जा हलइ - "केतना बजले ह ?", त ऊ उत्तर दे हलइ - "सत्ता में पाँच मिनट बाकी" । हरेक तोंदल अदमी ओकरा एक्का के आद देलावऽ हलइ । तिक्का, सत्ता, एक्का - ओकरा नीन में पीछा करऽ हलइ, सब तरह के संभव रूप धारण करके - तिक्का एगो बड़का गो फूल के रूप में खिल जा हलइ, सत्ता गोथिक शैली के फाटक के रूप में प्रकट होवऽ हलइ, एक्का बड़का गो मकड़ा के रूप में । ओकर सब विचार एक्के में मिल जा हलइ - ऊ राज (secret) के सदुपयोग करना, जेकरा लगी ओकरा एतना बड़गो कीमत चुकावे पड़लइ । ऊ सेवानिवृत्ति आउ यात्रा के बारे सोचे लगलइ । ऊ पेरिस के सार्वजनिक कासिनो (जुआखाना) में सम्मोहित भाग्य (enchanted Fate) से खजाना हथियावे लगी चाहऽ हलइ । संयोग ओकरा धौड़धूप से बचा देलकइ ।
मास्को में धनी जुआड़ी लोग के एगो दल बन्नल हलइ, चेकलिन्स्की के अध्यक्षता में, जे अपन पूरा जिनगी ताश के जुआ खेले में बितइलके हल आउ वचनपत्र (promissory notes) जीतते आउ नगद रकम हारते, कभी करोड़ो बनइलके हल । दीर्घकाल के अनुभव ओकरा लगी सथीवन के विश्वास अर्जित कइलके हल, आउ ओकर खुल्लल घर, निम्मन रसोइया, सहृदयता आउ प्रसन्नचित्तता ओकरा लगी आम लोग के मान-मर्यादा । ऊ पितिरबुर्ग अइलइ । युवा वर्ग, ताश के जुआ के सामने बॉल-नृत्य के भूलके आउ इश्कबाजी के प्रलोभन के अपेक्षा फ़ारो के सम्मोहन के प्राथमिकता देते, ओकरा हीं जमघट लगावे लगलइ । नारूमोव ओकरा हीं हेर्मान के लइलकइ । 
ओकन्हीं शानदार कमरा के कतार (series) पार करते गेलइ, जेकरा में शिष्ट बैरा सब भरल हलइ । कुछ जेनरल (सेनापति) आउ प्रिवी काउंसिलर (सम्राट् या गवर्नर-जेनरल के निजी सलाहकार) लोग कोटपीस (whist) खेल रहते गेले हल; नवयुवक लोग बेल-बूटेदार कपड़ा से मढ़ल सोफा पर पसरके बैठल हलइ, आइसक्रीम खा रहले हल आउ पाइप पी रहले हल । अतिथि-कक्ष में लगभग बीस खेलाड़ी एगो लमगर टेबुल के चारो तरफ जामा हलइ, जेकर पीछू गृह-स्वामी बैठल हलइ आउ ओहे बैंकर बनल हलइ । ऊ लगभग साठ साल के अत्यंत आदरणीय रंगरूप के हलइ; सिर पर रुपहला केश हलइ; भरल आउ ताजा चेहरा उदारता चित्रित करऽ हलइ; सदा मुसकान छाल रहे से सजीव आँख चमकऽ हलइ । नारूमोव ओकरा हेर्मान के परिचय देलकइ । चेकलिन्स्की मित्रतापूर्ण ढंग से ओकरा साथ हाथ मिलइलकइ, औपचारिकता नयँ बरते लगी कहलकइ आउ पत्ता बाँटना जारी रखलकइ ।     
खेल के पारी (round) देर तक चललइ । टेबुल पर तीस से अधिक पत्ता हलइ ।
चेकलिन्स्की हरेक दाँव के बाद रुक जाय ताकि खेलाड़ी सब के अपन इंतजाम करे के समय मिल जाय, (ओकन्हीं के) हारल रकम के लिख लेइ, ओकन्हीं के निवेदन शिष्टतापूर्वक सुन्नइ, (ओकन्हीं के) अन्यमनस्क हाथ से मोड़ल कोना के आउ अधिक शिष्टतापूर्वक सीधा कर देइ । आखिरकार खेल के पारी समाप्त होलइ । चेकलिन्स्की पत्ता फेंटलकइ आउ दोसर पारी खातिर पत्ता बाँटे के तैयारी कइलकइ ।
"एक दाँव लगावे के अनुमति देथिन", हिएँ परी दाँव लगा रहल एगो मोटगर अदमी के पीछू से हाथ बढ़इते हेर्मान कहलकइ । चेकलिन्स्की मुसकइलइ आउ चुपचाप सहमति के संकेत के रूप में सिर झुकइलकइ । नारूमोव हँसते हेर्मान के लमगर अवधि के व्रत के तोड़े के निर्णय पर बधाई देलकइ आउ ओकरा लगी शुभारंभ के कामना कइलकइ ।
"त अइकी हइ !" अपन पत्ता पर खल्ली से बड़गो रकम लिखके हेर्मान कहलकइ ।
"केतना के दाँव हइ जी ?" बैंकर अपन आँख जरी सिकोड़ते पुछलकइ, "माफ करथिन जी, हमरा ठीक से देखाय नयँ दे हइ ।"
"सनतालीस हजार", हेर्मान उत्तर देलकइ । एतना सुनला पर सबके सिर क्षण भर में मुड़ गेलइ आउ सब आँख हेर्मान पर टिक गेलइ । "ई पगलाऽ गेले ह !" नारूमोव सोचलकइ ।
"ई अपने के बतावे के अनुमति देथिन", चेकलिन्स्की अपन अपरिवर्तनीय मुसकान के साथ कहलकइ, "कि अपने के दाँव बड़गर हइ - कोय भी खेल के सबसे पहिला चरण (simple) में अभी तक दू सो पचत्तर से जादे के दाँव नयँ लगइलके ह ।"
"एकरा से की ?" हेर्मान एतराज कइलकइ, "हमर दाँव अपने के स्वीकार हइ कि नयँ ?" चेकलिन्स्की ओइसने विनयपूर्ण सहमति के मुद्रा में अपन सिर झुकइलकइ ।
"हम खाली अपने के सूचित करे लगी चाहऽ हलिअइ", ऊ कहलकइ, "कि मित्र लोग के विश्वासपात्र होवे के नाते हम नगद रकम के अलावा कोय आउ तरह से बैंकर के भूमिका अदा नयँ कर सकऽ हिअइ । जाहाँ तक हमर खुद के तरफ से संबंध हइ त हम निस्संदेह आश्वस्त हिअइ कि अपने के वचन ही काफी हइ, लेकिन खेल आउ हिसाब के व्यवस्था खातिर हम अपने से दाँव पर पैसा रक्खे के निवेदन करऽ हिअइ ।"
हेर्मान अपन जेभी से एगो बैंकनोट निकसलकइ आउ चेकलिन्स्की के सौंप देलकइ, जे एकरा विहंगम दृष्टि से देखके हेर्मान के पत्ता पर रख देलकइ । ऊ पत्ता बाँटे लगलइ । दहिना दने नहला अइलइ आउ बामा दने तिक्का।
"(हमर पत्ता) जीत गेलइ !" अपन पत्ता देखइते हेर्मान कहलकइ ।
खेलाड़ी लोग के बीच खुसुर-फुसुर होवे लगलइ । चेकलिन्स्की नाक-भौं सिकुड़लकइ, लेकिन तुरतम्मे ओकर चेहरा पर मुसकान लौट अइलइ ।
"की अभी प्राप्त करे लगी चाहऽ हथिन ?" ऊ हेर्मान के पुछलकइ ।
"मेहरबानी करथिन ।"

चेकलिन्स्की जेभी से कुछ बैंकनोट निकसलकइ आउ तुरतम्मे हिसाब चुकता कर देलकइ । हेर्मान अपन पैसा लेलकइ आउ टेबुल भिर से चल गेलइ । नारूमोव तो अपन होश भी सम्हार नयँ पइलकइ । हेर्मान एक गिलास लेमू-शरबत (lemonade) पिलकइ आउ घर रवाना हो गेलइ ।
दोसरा दिन शाम के ऊ फेर से चेकलिन्स्की के हियाँ प्रकट होलइ । गृह-स्वामी पत्ता बाँट रहले हल । हेर्मान टेबुल भिर अइलइ; पुंटर लोग (punters) ओकरा तुरतम्मे जगह दे देते गेलइ । चेकलिन्स्की स्नेहपूर्वक ओकरा सामने सिर झुकइलकइ ।
हेर्मान नयका पारी के इंतजार कइलकइ, पत्ता दाँव पर रखलकइ, जेकरा पर अपन सनतालीस हजार आउ कल्हे वला अपन जित्तल रकम लगइलकइ ।
चेकलिन्स्की पत्ता बाँटे लगलइ । गुलाम के पत्ता दहिना दने गिरलइ, आउ सत्ता बामा दने ।
हेर्मान सत्ता खोलके देखइलकइ ।
सब कोय आह भरलकइ । चेकलिन्स्की स्पष्टतः परेशान हो उठलइ । ऊ चौरानबे हजार गिनके हेर्मान के सौंप देलकइ । हेर्मान भावशून्यता के साथ ई लेलकइ आउ तखनिएँ चल गेलइ ।
अगले शाम हेर्मान फेर टेबुल भिर प्रकट होलइ । सब कोय ओकर प्रतीक्षा कर रहले हल । जेनरल आउ प्रिवी काउंसिलर लोग अपन ताश के ह्विस्ट खेल बीच में छोड़ देते गेलइ ताकि एतना असाधारण खेल के देख सकइ। नवयुवक अफसर सब सोफा पर से उछलके आ गेते गेलइ; सब बैरा अतिथि-कक्ष में जामा हो गेते गेलइ । सब लोग हेर्मान के घेर लेते गेलइ । दोसर खेलाड़ी लोग अपन दाँव नयँ लगइते गेलइ, अधीरतापूर्वक इंतजार करते गेलइ कि एकर नतीजा की निकसऽ हइ । हेर्मान टेबुल भिर खड़ी हलइ, आउ पीयर पड़ल, लेकिन हमेशे मुसकइते चेकलिन्स्की के विरुद्ध अकेल्ले दाँव लगावे लगी तैयारी कर रहले हल । हरेक अपन-अपन ताश के गड्डी खोललकइ । चेकलिन्स्की पत्ता फेंटलकइ । हेर्मान अपन पत्ता निकसलकइ आउ ओकरा बैंकनोट के गड्डी से झाँकके दाँव लगइलकइ । ई एगो द्वन्द्वयुद्ध नियन हलइ । सगरो गहरा सन्नाटा छाल हलइ ।
चेकलिन्स्की पत्ता बाँटे लगलइ, ओकर हाथ काँप रहले हल । दहिना दने बेगम पड़लइ, बामा दने एक्का ।
"एक्का जीत गेलइ !" हेर्मान बोल उठलइ आउ अपन पत्ता खोलके देखइलकइ ।
"अपने के बेगम हार गेलइ", चेकलिन्स्की स्नेहपूर्वक कहलकइ ।
हेर्मान चौंक गेलइ - वास्तव में एक्का के बजाय सामने काला के बीवी पड़ल हलइ । ओकरा अपन आँख पर विश्वास नयँ हो रहले हल, समझ में नयँ आ रहले हल कि कइसे ओकरा से गलत पत्ता निकस गेलइ ।
तखनिएँ ओकरा लगलइ कि काला के बीवी अपन आँख सिकुड़इलकइ आउ व्यंग्यपूर्वक मुसकइलइ । असाधारण सादृश्य से ऊ दंग रह गेलइ ...
"बुढ़िया !" ऊ भय से काँप उठलइ ।
चेकलिन्स्की (हेर्मान द्वारा हारल) रकम के अपना भिर घींच लेलकइ । हेर्मान बुत बन्नल खड़ी रहलइ । जब ऊ टेबुल भिर से गेलइ, त शोर-शराबेदार बातचीत उठलइ । "शानदार दाँव लगइलकइ !" खेलाड़ी लोग बोललइ। चेकलिन्स्की फेर से पत्ता फेंटे लगलइ - खेल हमेशे नियन चलते रहलइ ।

उपसंहार
हेर्मान पागल हो गेलइ । ऊ ओबुख़ोव अस्पताल में कमरा नम्बर 17 में बैठल रहऽ हइ, कउनो प्रश्न के उत्तर नयँ दे हइ आउ असाधारण गति से बड़बड़ा हइ - "तिक्का, सत्ता, एक्का ! तिक्का, सत्ता, बीवी ! ..."
लिज़ावेता इवानोव्ना एगो बहुत सुशील नवयुवक से शादी कर लेलकइ; ऊ कहीं तो सरकारी सेवा में हइ आउ बड़ी धनवान हइ - ऊ बुढ़िया काउंटेस के भूतपूर्व बराहिल (steward) के बेटा हइ । लिज़ावेता इवानोव्ना के हियाँ एगो गरीब रिश्तेदार लड़की के पालन-पोषण हो रहले ह ।
तोम्स्की के कप्तान पद पर प्रोन्नति (promotion) मिल गेले ह आउ राजकुमारी पोलिना से शादी करे वला हइ।

टिप्पणी:
[1] "आतान्दे !" - पुश्किन मूल रूसी में फ्रेंच शब्द "Attendez!" (“ठहरथिन !”) के फ़ारो में प्रयुक्त रूसीकृत रूप "Атàнде!" के प्रयोग कइलथिन हँ, जेकर प्रयोग करके जुआड़ी लोग कोय दाँव पर खेल समाप्त होवे के पहिले लगावल दाँव में परिवर्तन करे लगी बैंकर के कहऽ हलइ । जब ई शब्द के प्रयोग उत्तेजित अवस्था में जोर देके कहल जा हलइ त ई एगो अशिष्ट आदेश नियन लग सकऽ हलइ, जे बैंकर लगी अपमानजनक हलइ, विशेष करके जब ऊ कोय अधेड़ उमर के आउ उँचगर पद पर होवऽ हलइ । प्योत्र व्याज़ेम्स्की (1792-1878) अपन "पुरनका नोटबुक" में रेकर्ड करऽ हथिन कि काउंट गुदोविच, जेकर प्रोन्नति कर्नल रैंक में हो गेले हल, अपन सहकर्मी लोग के साथ फ़ारो खेल में बैंकर के भूमिका अदा करे लगी बंद कर देलके हल, ई स्पष्टीकरण देते - "कोय बुजुर्ग के ई शोभा नयँ दे हइ कि ऊ खुद के कोय दुधपिलुआ वारंट अफसर के माँग के चक्कर में डालइ, जे अपने के विरुद्ध दाँव लगाके लगभग अशिष्ट ढंग से चिल्ला हइ - आतान्दे !" [दे॰ प्योत्र व्याज़ेम्स्की - "स्तारयऽ ज़पिस्नयऽ क्निझका" (पुरनका नोटबुक); संपादकः एल.या. लिन्ज़बुर्ग, प्रकाशकः इज़दातेल्स्त्वा पिसातेलेय, लेनिनग्राद, 1927, लेख सं॰124; "पोलनए सब्रानिए सचिनेनी क्न्याज़्या पे॰ आ॰ व्याज़ेम्स्कवऽ" (राजकुमार प्योत्र अन्द्रेयेविच व्याज़ेम्स्की के सम्पूर्ण रचनावली), 12 खंड में, खंड-8 (1883), पितिरबुर्ग, पृ॰189 (रूसी में)] शायद एहे उपाख्यान, जे पितिरबुर्ग में 1830 के दशक में प्रचलन में हलइ, पुश्किन के ई अध्याय में सूक्ति के रूप में प्रयोग करे लगी प्रेरित कइलकइ ।
[2]  आतान्दे-स् ( Атàнде-c! ) - कोय रूसी भाषा के आज्ञार्थक (imperative) क्रियारूप में "-स्" जोड़ देवे से उच्च दर्जा के सम्मान सूचित करऽ हइ । अतः फ्रेंच-रूसी मिश्रित ई शब्द के अर्थ हइ - "ठहरथिन जी", "ठहरथिन श्रीमान", आदि ।